Friday, June 5, 2020
Home इतिहास

इतिहास

Republic day Special: 26 जनवरी की तारीख भारतीय इतिहास में क्यों हैं अहम?

भारत एक ऐसा देश है, जहाँ अलग-अलग धर्मों के लोग एक साथ रहते है। ऐसे में कोई न कोई दिन त्योहार आ ही जाता है, जिसे हर धर्म को मानने वाले लोग बड़े उल्लास के साथ त्योहार को मनाते हैं। हालांकि कुछ ऐसे राष्ट्रीय त्योहार है, जिसे प्रत्येक देशवाशी अपने धर्मों को साइड में रखकर सम्मान और सनेह के साथ मनाते है। 26 जनवरी (Republic day) भी एक ऐसा ही दिन है, जो राष्ट्रीय पर्व के रूप में आन बान और सान से मनाया जाता है। भारतीय इतिहास में 26 जनवरी की तारीख कई महत्वपुर्ण घटनाओं के लिए जानी जाती है। आइए जानें कि आखिर 26 जनवरी की तारीख भारतीय इतिहास (Indian History) में क्यों अहम हैं।

अमेरिका दुनिया में शक्तिशाली कैसे बना? How did America become powerful?

दुनिया में 200 से भी अधिक देश है, लेकिन सबसे विकसित देश की बात होती है तो अमेरिका का नाम पहले आता है। चाहे इकोनॉमिक्स हो, डिफेंस हो या विश्वव्यापी नेटवर्क। हर मामले में दुनिया का नंबर वन देश अमेरिका ही कहलाता है। पर क्या आप जानते है कि एक समय अमेरिका में गरीबी ही गरीबी थी। उसकी स्थिति एक ग़रीब देश की तरह थी। अगर आप नही जानते तो हम बताने जा रहे है कि एक ग़रीब अमेरिका कैसे दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश बना?

Republic Day History: 26 जनवरी गणतंत्र दिवस का इतिहास

भारत 26 जनवरी को 71वाँ गणतंत्र दिवस मनाने जा रहा है। इसी दिन हमारे देश में संविधान लागू हुआ था। 15 अगस्त 1947 में अंग्रेजों द्वारा आज़ादी मिलने के बाद हमारे देश को अपनी संविधान की जरूरत थी। ऐसे में बाबा भीमराव अंबेडकर (B. R. Ambedkar) ने संविधान लिखने की जिम्मेवारी ली और उन्होंने 2 साल, 11 महीने और 18 दिनों में संविधान तैयार कर लिया।

Indian Army: क्यों मनाया जाता है सेना दिवस, किसे दी जाती है सलामी, जानिए इतिहास

भारतीय सेना दिवस हर साल 15 जनवरी को मनाया जाता है। इस दिन नई दिल्ली व सभी सेना मुख्यालयों में सेना प्रमुख सैन्य परेड की सलामी लेते हैं। कुछ लोगों के मन में सवाल आता है कि भारतीय सेना दिवस 15 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है? अगर आपको नही पता तो हम बताने जा रहे है। साथ ही भारतीय सेना से जुड़े तथ्य बताएँगे।

अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद का पूरा विवाद ऐसे समझें

Ayodhya distributed: अयोध्या का पूरा विवाद मंदिर और मस्जिद से जुड़ा हुआ है...अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद का पूरा विवाद सैकड़ों सालों से चल रही थी। इस विवाद पर ऐतिहासिक, राजनैतिक और धार्मिक प्रश्न यह है कि वंहा राम का मंदिर था या नही, अगर था तो क्या उस मंदिर को तोड़कर मस्जिद बनवाई गई?

Most Read

Jyotiba phule : महिलाओं के लिए खोला था पहला स्कूल, महात्मा फूले का जीवनी

ज्योतिबा फुले महान क्रांतिकारी, भारतीय विचारक, समाजसेवी, लेखक एवं दार्शनिक थे। 19वी सदी में समाज में फैली कई तरह के कुरीतियों को उन्होंने उखार...

नमक कई प्रकार के होते है, जानिए उसके फायदे और नुकसान (Salt)

हम सभी नमक का सेवन करते है। इसमे सोडियम का अच्छा श्रोत पाया जाता है, जो हमारे पाचन क्रिया को बायलेंस करता है। लेकिन क्या आप जानते है कि नमक कितने प्रकार के होते है? आज आपको बताएंगे कि कौन कौन से नमक होते है और कौन से नमक आपके सेहत के लिए फायदेमंद है।

झील में बना भारत का अनोखा महल, पानी में बने 5 मंजिला इमारत की दिलचस्प कहानी

राजस्थान अपने विरास्तों के लिए विश्वभर में प्रसिद्ध है। यहां कुछ ऐसी ऐतिहासिक इमारते है, जो आज भी शानों शौकत से खड़ी है और...

रूस लड़ रहा एक साथ तीन लड़ाई, कोरोना, जंगल की आग और नई सड़क बड़ा ख़तरा

कोरोना वायरस पूरी ​दुनिया के लिए संकट बना हुआ है, जिससे सभी देश लड़ने में लगी हुई है। इसी बीच रूस (Russia) तीसरी मार से जुझ रहा है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) इस समय कोरोना के साथ चेर्नोबिल परमाणु संयंत्र के पास जंगल में लगी आग और मॉस्को मोटरवे की घटना की मार से जुझ रहे है।
WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com