Tuesday, June 2, 2020
Home इतिहास जानिए सबसे बड़े तानाशाह हिटलर की हैवानियत और निजी जीवन की काली...

जानिए सबसे बड़े तानाशाह हिटलर की हैवानियत और निजी जीवन की काली कहानी

दुनिया का सबसे बड़ा तनाशाह हिटलर का अपनी ही भतिजी के साथ अनैतिक संबंध थे। बच्चियों और अभिनेत्री के साथ हिटलर शारीरिक संबंध बनाता था। बाद में दुर्गति की मौत मरने के डर से हिटलर ने गोली मार ली

दुनिया में जब भी कभी तानाशाही की बात चलती है तो सबके ज़ुबान पर पहला नाम हिटलर का आता है। जर्मनी में नाजी शासन कहे या तानाशाह हिटलर का शासन कहे, वह अपनी क्रूरता के लिए आज भी बदनाम है। 20 अप्रैल 1889 को जन्मे हिटलर ने बच्चों को भी नही बख्शा, न महिलाओं को ,न बूढ़े को। उसने लाखों मासूम लोगों को कठोर यातनाएँ देकर मौत के घाट उतार दिए। कई अखबारों के अनुसार, हिटलर अपनी हवस की भूख मिटाने के लिए कम उम्र की लड़कियों और अभिनेत्रियों के साथ अजीब हरकत कर संबंध बनाता था। कहा जाता है कि हिटलर समलैंगिक था। पुरूषों के साथ भी उसके संबंध थे। आज हम हिटलर से जुड़े अजीबो ग़रीब सच आपको बताने जा रहे है, जिसने क्रुर्ता और हैवानियत की सारे हदे पार की।



जर्मनी में शासन का मतलब हिटलर था

हिटलर ही वहाँ का देश, शासन, कानून, धर्म, प्रधानमंत्री राष्ट्रपति सब था। और उसके विरोध का केवल एक ही अर्थ था, वो था मौत। हिटलर ने अपनी सत्ता कायम करने के लिए सबसे पहले अपने कमांडो के द्वारा आतंक का वातावरण बनाया। उसके बाद उसने विपक्ष का सफाया किया। एक देश, एक पार्टी, और एक नेता का सिद्धांत देकर उसने बड़ी क्रूरता से उसे लागू किया।

News

लोगों को ठिकाने लगाने वाली हिटलर की सीक्रेट पुलिस 

हिटलर की एक सीक्रेट पुलिस थी, जिसका नाम गेस्टापो था। वर्ष 1933 में स्थापित ये सीक्रेट पुलिस राजनीतिक पुलिस फोर्स थी, जिसका मकसद राजनीतिक विरोधी पार्टियों को ठिकाने लगाना था। गेस्टापो पुलिस के कैद में जो भी लोग थे। उन्हे तड़पाकर मार दिया गया। लेकिन मरने वालो ने अपने आने वाले पीढ़ियों के लिए दिल दहलाने वाले यादें छोड़ गए।

10 कोठरियां कहती है हिटलर की सबसे बड़ी क्रूरता की कहानी



राष्ट्रवाद के नाम पर नस्लवाद और अत्याचार की सारी हदें पार करने वाला हिटलर की काली कहानी आज भी देखी जाती है। मेमोरियल में 10 कोठरियां हैं जो आज भी क्रूरता की कहानी ब्यान करती है। यहां नाजी काल में हजारों कैद महिलाओं और पुरूषों ने दीवारों पर अपना खौंफ लिखा है। कोठरियों की दीवारों पर लिखी भावनाए, उनके सपने, उनके उपर हुए ज़ुल्म हिटलर की क्रूरता की कहानी बताने के लिए काफी है।

News

हिटलर ने क्यों 15 लाख यहूदी बच्चों की जान ली थी

यहूदियों के दुश्मन नाजीवादी तानाशाह हिटलर 15 लाख बच्चों समेत 60 लाख यहूदियों कों मरवा दिया था। इससे दुनिया की एक तिहाई यहूदी आबादी खत्म हो गई। ऐसा करने के पीछे तर्क ये है कि जर्मन लोगों को ख़तरा था कि यहूदी लोग हर मामले में नेतृत्व करते हैं, जो जर्मन लोगों के खिलाफ है। लेकिन सच ये है कि यहूदियों से जर्मनों को कोई खतरा नही था।

हिटलर ने ही पूरी दुनिया को वर्ड वार 2 में झोंका

द्वितीय विश्वयुद्ध के लिए जिम्मेदार हिटलर के आदेश के बाद नात्सी सेना ने पोलैंड पर आक्रमण किया था। तभी से द्वितीय विश्वयुद्ध की शुरूआत हुई। देखते ही देखते 61 देश विश्वयुद्ध में शामिल हो गए। इस महायुद्ध में 5 से 7 करोड़ लोगों की जानें गईं थी।

News

बच्चियों और अभिनेत्री के साथ थे हिटलर के शारीरिक संबंध

हिटलर जितना क्रुर था उतना ही उसके सेक्स लाइफ की मिस्ट्री भी सामने आती है। वह अपने निजी जीवन में भी तनाशाही रवैया अपनाता था। वह अपनी हवस को मिटाने के लिए अजिबों गरीब हरकतें करता था। जर्मन अभिनेत्री Renate Muller के अनुसार, हिटलर सेक्स के समय, अपने पैरों से मारने को कहता था। वेश्याओं को छोड़कर हिटलर हमेशा से ही कम उम्र की लड़कियों के साथ संबंध बनाता था। कहा जाता है कि हिटलर बच्चों के साथ भी संबंध बनाता था। हालांकि इतिहास में इसका कोई ठोस प्रमाण नही मिलता है। वही Anti-Gay Activists मानते थे कि हिटलर और उसकी पूरी नाजी सेना समलैंगिक था। 

अपनी भतीजी के साथ हिटलर के थे अनैतिक संबंध

कहा जाता है कि हिटलर का अपनी ही भतीजी के साथ अनैतिक संबंध थे। इससे तंग आकर एक दिन भतrजी ने आत्महत्या कर ली थी। तब उसकी भांजी की उम्र मात्र 23 साल थी। ऐसा आरोप हिटलर पर जर्मनी के नाज़ी पार्टी के सदस्य Otto Strasser ने लगाए थे। otto ने बताया था कि हिटलर ने उसे खुद कहा था कि उसकी भतिजी पहली लड़की है, जिससे वह प्यार करता था।


हिटलर के खाने से पहले जहर के अंदेशे में 15 महिलाएँ चखती था खाना

हैरानी की बात ये है कि हिटलर के खाना खाने से पहले खाने में जहर तो नही है, इसका पता लगाने के लिए 15 महिलाओं को पहले चखने को देता था। इस क्रुर व्यवहार से उन महिलाओं की जान जा सकती थी। खाना सुरक्षित है, इसका पता लगने के बाद ही हिटलर वह खाना खाता था। इस बात का खुलासा इन 15 महिलाओं में से एक महिला मार्गोट वोक ने चुप्पी तोड़कर की। खाना चखने वाले को टेस्टर्स कहता जाता था।

News

दुर्गति की मौत मरने के डर से हिटलर ने गोली मार ली थी

30 अप्रैल, 1945 को हिटलर ने एक बंकर में गोली मार ली थी। जब सोवियत की रेड आर्मी ने बर्लिन को घेर लिया था। तब हिटलर बंकर में छुप गया था। लेकिन पकड़े जाने और दुर्गति की मौत मरने से बेहतर आत्महत्या करना ही सही समझा। मरने से पहले उसने कहा था कि उसकी डेड बॉडी को जलाया जाए। हिटलर ईसाई था। ईसाई मरने के बाद लाश को दफनाते हैं। हिटलर को डर था कि मरने के बाद उसके दुश्मन उसके बॉडी से घिन काटेंगे, उस पर थुकेंगे, इसलिए उसने अपनी मृत शरीर को जला देने की बात कही थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Jyotiba phule : महिलाओं के लिए खोला था पहला स्कूल, महात्मा फूले का जीवनी

ज्योतिबा फुले महान क्रांतिकारी, भारतीय विचारक, समाजसेवी, लेखक एवं दार्शनिक थे। 19वी सदी में समाज में फैली कई तरह के कुरीतियों को उन्होंने उखार...

नमक कई प्रकार के होते है, जानिए उसके फायदे और नुकसान (Salt)

हम सभी नमक का सेवन करते है। इसमे सोडियम का अच्छा श्रोत पाया जाता है, जो हमारे पाचन क्रिया को बायलेंस करता है। लेकिन क्या आप जानते है कि नमक कितने प्रकार के होते है? आज आपको बताएंगे कि कौन कौन से नमक होते है और कौन से नमक आपके सेहत के लिए फायदेमंद है।

झील में बना भारत का अनोखा महल, पानी में बने 5 मंजिला इमारत की दिलचस्प कहानी

राजस्थान अपने विरास्तों के लिए विश्वभर में प्रसिद्ध है। यहां कुछ ऐसी ऐतिहासिक इमारते है, जो आज भी शानों शौकत से खड़ी है और...

रूस लड़ रहा एक साथ तीन लड़ाई, कोरोना, जंगल की आग और नई सड़क बड़ा ख़तरा

कोरोना वायरस पूरी ​दुनिया के लिए संकट बना हुआ है, जिससे सभी देश लड़ने में लगी हुई है। इसी बीच रूस (Russia) तीसरी मार से जुझ रहा है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) इस समय कोरोना के साथ चेर्नोबिल परमाणु संयंत्र के पास जंगल में लगी आग और मॉस्को मोटरवे की घटना की मार से जुझ रहे है।

Recent Comments

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com