कोरोना पर सरकार की अडवायजरी जारी,22 से 29 मार्च तक बंद रहेंगे अंतरराष्ट्रीय उड़ान

सरकार ने आज 10 साल से कम और 65 साल से ज्यादा उम्र वाले बुजुर्गों को घर से बाहर निकलने के लिए हिदायत दी है और देश में इंटनरेशनल कमर्शियल पैसेंजर फ्लाइट पर रोक लगा दी है।

0
305
News
कोरोना पर सरकार की अडवायजरी जारी,22 से 29 मार्च तक बंद रहेंगे अंतरराष्ट्रीय उड़ान

भारत में कोरोना वायरस से अब तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है। वही 171 लोग कारोना वायरस पॉजिटिव पाए गए है। बढ़ते आकड़े को देखते हुए केंद्र और राज्य सरकार अपनी सख्त अडवायजरी जारी की है। केंद्र सरकार ने 19 मार्च को 10 साल से कम और 65 साल से ज्यादा उम्र वाले बुजुर्गों को घर से बाहर निकलने के लिए हिदायत दी है। साथ ही सरकार देश में किसी भी इंटनरेशनल कमर्शियल पैसेंजर फ्लाइट को आने पर रोक लगाने की बात कही है। ये प्रतिबंध 22 मार्च से प्रभावी होंगे, जो एक हफ्ते तक लागू रहेगा।

क्या है सरकार की नई अडवायजरी?

  • देश में कोरोना के बढ़ते मामलों से मास्क और सैनिटाइजर्स का मांग इस कदर बढ़ गया है कि दुकानदार ग्राहकों से पैसे लुटने में लगी है। इसे देखते हुए सरकार ने ज्यादा दाम वसूलने वालों के खिलाफ फार्मा डिपार्टमेंट और उपभोक्ता मामलों का विभाग को कार्रवाई करने के निर्देश दिए है।
  • रेलवे और सिविल एविएशन छात्रों, मरीजों और दिव्यांग कैटेगरी में यात्रा करने पर दी जाने वाली सेवाओं को सस्पेंड करने की बात कही है।
  • केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से कहा है कि 65 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों को घर में ही रहने का दिशा निर्देश जारी करें। हालांकि यह एडवाजयरी गवर्नमेंट स्टाफ, मेडिकल स्टाफ और पब्लिक रिप्रेजेन्टेटिव पर लागू नहीं होगी।
  • सरकार ने सख्त निर्देश दिया है कि 10 सेल से कम उम्र के बच्चे घर से बाहर ना जाए।

पहले भी सरकार ने जारी की थी अडवायजरी

  • शुरूआती दौर में ही सरकार ने देशभर में स्कूल, कॉलेज, स्वीमिंग पूल और मॉल को 31 मार्च तक पूरी तरह से बंद रखने के निर्देश दिए थे।
  • 31 मार्च तक सभी आदमी एक-दूसरे से एक मीटर की दूरी पर रहे, यानी सोशल डिसटेंस बनाए रखें।
  • बिना जरूरी के लोग बसों, ट्रेनों और विमानों की यात्रा से बचें। संभव हो तो कुछ दिन घर पर ही रहे।
  • जहां तक संभव हो प्राइवेट सेक्टर संस्थान अपने कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति प्रदान करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here