ATM ट्रांजेक्शन हो सकता है महंगा, एटीएम कंपनियों ने Interchange फी बढ़ाने की मांग

ऑपरेटर्स का कहना है कि एटीएम चलाने वाली कंपनियों को नुकसान झेलना पड़ रहा है, इसलिए नकदी निकालने पर यूजर्स को लगने वाले इंटरचेंज फी बढ़ाई जाए।

1
113
Newspaper
ATM ट्रांजेक्शन हो सकता है महंगा, एटीएम कंपनियों ने Interchange फी बढ़ाने की मांग

एटीए (ATM) के प्रत्येक ट्रांजेक्शन पर अब आपको ज्यादा पैसा खर्च करना पड़ सकता हैं। एटीएम ऑपरेटर्स असोसिएशन ने भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से इंटरचेंज फी बढ़ाने की मांग की है।

ऑपरेटर्स का कहना है कि एटीएम चलाने वाली कंपनियों को नुकसान झेलना पड़ रहा है, इसलिए नकदी निकालने पर यूजर्स को लगने वाले इंटरचेंज फी बढ़ाई जाए।



फी बढ़ाने को लेकर एटीएम कंपनियों का तर्क है कि आरबीआई (RBI) के सुरक्षा मानकों के पालन करने और एटीएम मशीन के मेंटनेंस में खर्चा पहले के मुकाबले काफी बढ़ गया है, जबकि आमदनी पहले जितना ही है। इस कारण एटीएम कंपनियों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। ऐसे में इंटरचेंज फी बढ़ाना अनिवार्य है।

आरबीआई (RBI) एटीएम यूजर्स को मुफ्त ट्रांजैक्शंस की अधिकतम सीमा पांच और इंटरचेंज फी प्रति ट्रांजैक्शन 15 रुपये तय कर रखा है। एटीएम कंपनियों को कहना है कि कारोबार चलाने के लिए यह रकम पर्याप्त नहीं है।

इससे पहले भी, 2019 में इंटरचेंज फी बढ़ाने की मांग की गई थी। उस समय नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने केंद्र सरकार को ऐसा करने के लिए प्रस्ताव भेजा था।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here