Friday, October 23, 2020
Home लाइफस्टाइल रंगों से नही इस बार पटाखों से खेली जाएगी होली, नाम है...

रंगों से नही इस बार पटाखों से खेली जाएगी होली, नाम है गुलाल पटाखा!

बाजार में गुलाल पटाखा आया है, जो लोगों के लिए एक न्ये अंदाज में होली खेलने के लिए मजबूर करेगी। खास बात यह है की इस पटाखे से गुलाल भी निकलता है और पटाखे का आवाज भी।

कुछ ही दिनों में होली का त्योहार आने वाला है, इसलिए अब मार्केट में रंग बिरंगे दुकान सजने लगे है। दुकानों में अलग- अलग रंग के पटाखे दिखने लगे है। एक मिनट, पटाखे यानी रंगों के पटाखे। इस बार रंगों के पटाखे से होली खेली जाएगी।

एक जमाने में लोग मिट्टी, गोबर और कलर को पानी में घोलकर होली खेलते थे, लेकिन इस बार इसके उलट है। बाजार में गुलाल पटाखा आया है, जो लोगों के लिए एक न्ये अंदाज में होली खेलने के लिए मजबूर करेगी। खास बात यह है की इस पटाखे से गुलाल भी निकलता है और पटाखे का आवाज भी। यानि होली के साथ एडवांस में दीवाली भी मन जाएगी।



जो पुराने चाचा होंगे वो इस गुलाल पटाखे को देखकर यही सोचेंगे की काश ये हमारे जमाने में भी रहा होता। खौर उस जमाने में अगर ये पटाखा होता तो पानी की बचत काफी हुई होती। ऐसा इसलिए कि इस गुलाल पटाखे के लिए पानी की जरूरत नही पड़ती। बल्कि बिना पानी के पिचकारी में गुलाल भरकर मजेदार होली खेल सकते है।

अमूमन पानी में रंग मिलाकर पिचकारी में भरकर होली खेली जाती है, लेकिन इस होली आपको इतना लंबा प्रोसिजर फॉलो नही करना पड़ेगा। बिना पानी के ही पिचकारी में गुलाल डालकर होली मना सकते है। इस कलर से एक फायदा यह है कि आपके कपड़ों को या शरीर को किसी तरह का नुकसान भी नहीं होगा।

होली के त्योहार को सबसे अधिक बच्चे इंज्वाय करते है। इस बार बच्चों को लुभाने के लिए स्पाइडर मैन और टॉम एंड जेरी कार्टून का मास्क बाजार में उपलब्ध है। कुल मिलाकर इस साल होली एक अलग अंदाज में मनने वाली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Jyotiba phule : महिलाओं के लिए खोला था पहला स्कूल, महात्मा फूले का जीवनी

ज्योतिबा फुले महान क्रांतिकारी, भारतीय विचारक, समाजसेवी, लेखक एवं दार्शनिक थे। 19वी सदी में समाज में फैली कई तरह के कुरीतियों को उन्होंने उखार...

नमक कई प्रकार के होते है, जानिए उसके फायदे और नुकसान (Salt)

हम सभी नमक का सेवन करते है। इसमे सोडियम का अच्छा श्रोत पाया जाता है, जो हमारे पाचन क्रिया को बायलेंस करता है। लेकिन क्या आप जानते है कि नमक कितने प्रकार के होते है? आज आपको बताएंगे कि कौन कौन से नमक होते है और कौन से नमक आपके सेहत के लिए फायदेमंद है।

झील में बना भारत का अनोखा महल, पानी में बने 5 मंजिला इमारत की दिलचस्प कहानी

राजस्थान अपने विरास्तों के लिए विश्वभर में प्रसिद्ध है। यहां कुछ ऐसी ऐतिहासिक इमारते है, जो आज भी शानों शौकत से खड़ी है और...

रूस लड़ रहा एक साथ तीन लड़ाई, कोरोना, जंगल की आग और नई सड़क बड़ा ख़तरा

कोरोना वायरस पूरी ​दुनिया के लिए संकट बना हुआ है, जिससे सभी देश लड़ने में लगी हुई है। इसी बीच रूस (Russia) तीसरी मार से जुझ रहा है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) इस समय कोरोना के साथ चेर्नोबिल परमाणु संयंत्र के पास जंगल में लगी आग और मॉस्को मोटरवे की घटना की मार से जुझ रहे है।

Recent Comments

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com